Posts

दिल्ली के भजनपुरा में निर्माणधीन इमारत ढही, चार की मौत

Image
दिल्ली के भजनपुरा इलाक़े में शनिवार दोपहर एक निर्माणधीन इमारत ढहने से चार लोगों की मौत हो गई. इस इमारत के अंदर एक कोचिंग सेंटर चलाया जा रहा था. जिस समय इमारत ढही, उस समय छात्र वहां पर मौजूद थे और वे मलबे में फंस गए. मौक़े पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने 13 लोगों को मलबे से निकाला. समाचार एजेंसी एनएनआई के अनुसार, मलबे के नीचे दबने से चार लोगों की जान गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना पर दुख जताया है. स्थानीय नेताओं, विधायक और पार्षद के अलावा दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी घटनास्थल का दौरा किया. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कहा है कि इस घटना के लिए जो भी ज़िम्मेदार पाया जाएगा, उसके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी. null. इमेज कॉपीराइट @ANI@ANI

शबाना आज़मी कार दुर्घटना में हुईं ज़ख्मी, अस्पताल में भर्ती

Image
जानी-मानी अभिनेत्री शबाना आज़मी मुंबई-पुणे हाइवे पर कार दुर्घटना में ज़ख़्मी हो गई हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार उन्हें नवी मुंबई के एमजीएम हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है.
इमेज कॉपीराइट @ANI@ANI यह हादसा मुंबई से 60 किलोमीटर दूर खलापुर के पास शनिवार शाम में चार बजे के आसपास हुआ. रायगढ़ के एसपी अनिल परासकर का कहना है कि इनकी कार की ट्रक से टक्कर हो गई थी. इस दुर्घटना में कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है. शबाना आज़मी मुंबई लौट रही थीं तभी उनकी गाड़ी ट्रक से भिड़ गई. महाराष्ट्र ट्रैफ़िक पुलिस के अनुसार यह हादसा खलापुर टोल बूथ से दो किलोमीटर पहले शाम में चार बजे के क़रीब हुआ. पुलिस के अनुसार शबाना के चेहरे, गर्दन और आँख के पास चोट लगी है. वो ड्राइवर की बगल वाली सीट पर बैठी थीं. पुलिस का कहना है कि जावेद अख़्तर पीछे से दूसरी कार में थे और उनकी कार इस टक्कर में शामिल नहीं थी. हिन्दुस्तान टाइम्स से खलापुर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर विश्वजीत काइन्जादे ने कहा है, ''शबाना की सफ़ारी गाड़ी उनका ड्राइवर चला रहा था और पीछे से जावेद अख़्तर की आउडी कार थी. ड्राइवर ओवरटेक की कोशिश कर…

दोषियों को माफ़ करने की सलाह पर भड़कीं निर्भया की माँ

Image
निर्भया की माँ आशा देवी ने सुप्रीम कोर्ट में सीनियर एडवोकेट इंदिरा जयसिंह के उस ट्वीट पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है, जिसमें उनसे दोषियों को माफ़ कर देने की अपील की गई थी.
निर्भया की माँ ने समाचार एजेंसी एनएनआई से बात करते हुए कहा, "इंदिरा जयसिंह कौन है जो मुझे सुझाव दे रही हैं? पूरा देश चाहता है दोषियों को फांसी की सज़ा दी जाए. उन जैसे लोगों की वजह से बलात्कार पीड़ितों के साथ न्याय नहीं हो पाता है." सीनियर एडवोकेट इंदिरा जयसिंह ने ट्वीट करके लिखा था, "मैं आशा देवी का दर्द समझती हूं, फिर भी अपील करती हूं कि वह सोनिया गांधी के उदाहरण पर चलें जिन्होंने नलिनी को माफ़ करते हुए कहा था कि वह उनके लिए मृत्युदंड नहीं चाहतीं. हम आपके साथ हैं मगर मृत्युदंड के पक्ष में नहीं हैं." इस पर निर्भया की माँ आशा देवी ने कहा, "यक़ीन नहीं होता कि इंदिरा जयसिंह ने इस तरह का सुझाव देने की हिम्मत भी कैसे कर ली. मैं सुप्रीम कोर्ट में कई कई बार उनसे मिली हूं. उन्होंने कभी मेरा हाल नहीं पूछा और आज वह दोषियों के लिए बोल रही हैं. ऐसे लोगों की रोज़ी-रोटी बलात्कारियों का समर्थन करके चलती है, इस…

देविंदर सिंह: चरमपंथियों के साथ पकड़े गए डीएसपी से पूछताछ

Image
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने डीएसपी देविंदर सिंह को दो चरमपंथियों के साथ श्रीनगर-जम्मू हाइवे पर गिरफ़्तार किया है. पुलिस के मुताबिक़ उन्हें सूचना मिली कि दोनों चरमपंथी शोपियां से भाग रहे हैं, जिसके बाद ऑपरेशन शुरू किया गया था.
बीते साल स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर भारत के राष्ट्रपति से सम्मान पाने वाले डीएसपी देविंदर सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात थे. जम्मू-कश्मीर के आईजी पुलिस विजय कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ''कल शोपियां में एक ऑपरेशन के दौरान एक डीएसपी को हिज़बुल मुजाहिदीन के दो चरमपंथियों के साथ गिरफ़्तार किया गया है. तीनों एक ही गाड़ी में थे. उनसे पूछताछ की जा रही है.'' इमेज कॉपीराइट @ANI@ANI साल 2013 में अफ़ज़ल गुरु ने आरोप लगाया था कि देविंदर सिंह ने उसकी मदद से कई चरमपंथियों को कश्मीर घाटी से बाहर करवाया था. अफ़ज़ल गुरू को साल 2001 में संसद पर हुए हमले का दोषी ठहराया गया था और फांसी दी गई. पुलिस के मुताबिक़ उन्हें सूचना मिली और इस पर तुरंत एक्शन लिया गया. दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में मीर बाज़ार के पास पुलिस ने उनकी गाड़ी को रोका. आईजी विजय कुमार ने मीडिया से …

देविंदर सिंह: अफ़ज़ल गुरु और चरमपंथियों से क्या था कनेक्शन?

Image
कश्मीर के पुलिस अधिकारी देविंदर सिंह रैना पर चरमपंथियों की मदद करने का आरोप लगा है और फिलहाल वो पुलिस हिरासत में हैं.
57 साल के देविंदर सिंह 1990 के दशक में कश्मीर घाटी में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ चलाए गए अभियान के दौरान प्रमुख पुलिसकर्मियों में रहे हैं. देविंदर सिंह भारत प्रशासित कश्मीर के त्राल इलाक़े के रहने वाले हैं जिसे चरमपंथियों का गढ़ कहा जाता है. कश्मीर में मौजूदा चरमपंथ का चेहरा रहे शीर्ष चरमपंथी कमांडर बुरहान वानी का भी संबंध त्राल से था. डीएसपी देविंदर सिंह के कई सहकर्मियों ने बीबीसी को बताया कि वो गैरक़ानूनी गतिविधियों (जैसे बेकसूर लोगों को गिरफ्तार करना, उनसे मोटी रकम लेकर रिहा करना) में शामिल रहे हैं लेकिन हर बार वो नाटकीय ढंग से इन सब आरोपों से बरी हो जाते थे. एक अधिकारी ने आरोप लगाया कि देविंदर सिंह ने 1990 के दशक में एक शख़्स को भारी मात्रा में अफीम के साथ गिरफ़्तार किया था लेकिन बाद में उसे रिहा कर दिया और अफीम बेच दी. उस मामले में भी उनके ख़िलाफ़ जांच शुरू हुई लेकिन जल्द ही इसे बंद कर दिया गया. 1990 के दशक की शुरुआत में ही देविंदर सिंह की नज़र हवालात में बंद अफ़ज़ल …

ईरान ने मिसाइल से मार गिराया था यूक्रेन का यात्री विमान, मांगी माफ़ी

Image
ईरान के सरकारी टीवी की रिपोर्ट के अनुसार सेना ने शनिवार को कहा कि 'ग़लती' से यूक्रेन के यात्री विमान को उसने ही मार गिराया था.
इस विमान में 176 लोग सवार थे. ईरान की तरफ़ से आए बयान में इसे 'मानवीय भूल' कहा गया है. बोइंग 737 फ्लाइट यूक्रेनियन इंटरनेशनल एयरलाइंस की थी. बुधवार को उड़ान के बाद इसे तेहरान के बाहरी इलाक़े में मार गिराया गया था. ईरान ने इराक़ में अमरीकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल से हमला किया था और उसके कुछ घंटे बाद ही इस विमान को मार गिराया गया था. इससे पहले ईरान इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने प्लेन को मार गिराया है. अमरीका और कनाडा ने अपनी ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर कहा था कि ईरान ने इस विमान को मार गिराया था. यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीएफ़ जा रहा था. इसमें 167 पैसेंजर और चालक दल के नौ सदस्य थे. इस फ़्लाइट में ईरान के 82, कनाडा के 13 और यूक्रेन के 11 नागरिक सवार थे. छोड़िए ट्विटर पोस्ट @HassanRouhani