Posts

नीरज चोपड़ा के ओलंपिक में इतिहास रचने की रोमांचक कहानी जानिए

Image
  नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के पहले खिलाड़ी बन गए हैं. उन्होंने 87.58 मीटर जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) के साथ भारत की झोली में पहला गोल्ड मेडल डाल दिया. नीरज ने अपने पहले प्रयास में 87.03 मीटर, दूसरे में 87.58 और तीसरे प्रयास में 76.79 मीटर जैवलिन फेंका. इस प्रतिस्पर्धा में दूसरे और तीसरे स्थान पर चेक खिलाड़ी रहे. नीरज चोपड़ा की इस जीत के साथ ही भारत के टोक्यो ओलंपिक में 7 पदक हो गए हैं और यह किसी एक ओलंपिक खेल में सबसे अधिक पदक लाने का भारत का नया रिकॉर्ड है. इससे पहले 2012 लंदन ओलंपिक खेलों में भारत ने छह पदक जीते थे. इसके साथ ही नीरज ओलंपिक के व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत के लिए गोल्ड जीतने वाले केवल दूसरे खिलाड़ी बने हैं. अभिनव बिंद्रा ने बीजिंग ओलंपिक 2008 के 10 मीटर राइफल शूटिंग में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता था. पहली बार ओलंपिक में खेल रहे नीरज चोपड़ा क्वॉलिफिकेशन राउंड में दोनों ही ग्रुप में सबसे ऊपर रहे थे. तब 23 वर्षीय इस एथलीट ने 86.65 मीटर भाला फेंका था. नीरज ने इसी साल मार्च में इंडियन ग्रॉ प्री-3 में 88.07 मीटर जैवलिन थ्रो के साथ अपना ही राष्ट्री

Tokyo Olympics 2020: मीराबाई चानू ने सिल्‍वर जीत रचा इतिहास, वेटलिफ्टिंग में दिलाया भारत को टोक्‍यो का पहला पदक

Image
  टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) में मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने भारत को पहला मेडल दिलाया है. मीराबाई चानू ने ये कमाल 49 किलोग्राम भारवर्ग की महिला वेटलिफ्टिंग में किया. उन्होंने स्नैच और क्लीन एंड जर्क राउंड मिलाकर कुल 202 किलो वजन उठाया और सिल्वर मेडल जीता. मीराबाई ने स्नैच राउंड में 87 किलो वजन उठाया तो वहीं क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 115 किलो वजन उठाया. 49 किलोग्राम भारवर्ग की महिला वेटलिफ्टिंग में स्वर्ण पदक चीन की वेटलिफ्टर ने जीता. 49 किलोग्राम भारवर्ग के महिला वेटलिफ्टिंग की शुरुआत स्नैच राउंड से हुई. इसमें मीराबाई चानू ने अपने पहले प्रयास में 81 किलोग्राम वजन उठाया. इसके बाद दूसरे प्रयास में उन्होंने 87 किलोग्राम वजन उठाया. हालांकि मीराबाई चानू का तीसरा प्रयास विफल रहा. तीसरे प्रयास में वो 89 किलोग्राम वजन उठाने आईं थी. अगर वो इस वजन को उठा लेतीं तो स्नैच राउंड में ये उनका पर्सनल बेस्ट होता. लेकिन, वो ऐसा नहीं कर सकीं और स्नैच राउंड में उनका सबसे ज्यादा भार 87 किलोग्राम दर्ज किया गया. स्नैच राउंड में मीराबाई सभी महिला वेटलिफ्टर्स के बीच दूसरे नंबर पर रही. पहला स्थान चीन क

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप: न्यूज़ीलैंड की दमदार जीत, फ़ाइनल में भारत को 8 विकेट से हराया

Image
  टेस्ट क्रिकेट को पहला वर्ल्ड चैंपियन मिल गया है. ये है आईसीसी रैंकिंग में पहले नंबर पर मौजूद टीम न्यूज़ीलैंड. न्यूज़ीलैंड ने भारत के ख़िलाफ़ साउथैम्पटन में छह दिन चले फ़ाइनल मुक़ाबले में हर मोर्चे पर दबदबा साबित किया और आठ विकेट से दमदार जीत हासिल की. बारिश से प्रभावित मैच के छठे दिन  गेंदबाज़ों के कमाल के बाद कप्तान केन विलियमसन और रॉस टेलर  ने उम्दा बल्लेबाज़ी की और  आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप  में इतिहास रच दिया .  जीत के हीरो रहे कप्तान विलियमसन ने हाफ सेंचुरी जमाई. वो 89 गेंद पर 52 रन बनाकर नाबाद रहे.  चौका जमाकर जीत पक्की करने वाले टेलर ने नाबाद 47 रन बनाए.  बारिश की वजह से दो दिन का खेल बर्बाद होने के कारण मैच का नतीजा छठे दिन निकला. भारत ने न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए 139 रन की चुनौती दी थी. स्पिनर आर अश्विन ने न्यूज़ीलैंड के स्पिनरों को सस्ते में पैवेलियन भेज दिया लेकिन विलियमसन और टेलर ने भारत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. न्यूज़ीलैंड की पारी के 31वें ओवर में टेलर जब 26 रन पर थे तब जसप्रीत बुमराह की गेंद पर चेतेश्वर पुजारा ने उनका कैच टपकाया. जब न्यूज़ीलैंड टीम जीत से 12

जोकोविच ने नडाल को फ़्रेंच ओपन के ‘ऐतिहासिक मैच’ में दी मात, दर्शकों के लिए कर्फ़्यू में देनी पड़ी ढील

Image
  शुक्रवार देर रात तक चले एक बेहद कड़े मुक़ाबले में 13 बार के विजेता राफ़ेल नडाल को हराकर नोवाक जोकोविच ने फ़्रेंच ओपन के फ़ाइनल में जगह बनाई.  फ़ाइनल में सर्बिया के जोकोविच का मुक़ाबला ग्रीस के स्टोफ़ानोस सितसिपास से होगा. सितसिपास किसी ग्रैंड स्लैम के फ़ाइनल में पहुंचने वाले पहले ग्रीक हैं.  वहीं, क्ले कोर्ट के चैंपियन के रूप में प्रसिद्ध नडाल की फ़्रेंच ओपन के कुल 108 मैचों में यह उनकी तीसरी हार है. 2016 में जोकोविच एक बार फ्रेंच ओपन जीत चुके हैं जबकि 2015 में उन्होंने नडाल को हराया था. जोकोविच अगर इस बार का फ़्रेंच ओपन का फ़ाइनल मैच भी जीत जाते हैं तो वो यह इनका 19वां ग्रैंड स्लैम होगा. इसके साथ ही वो 50 सालों में ऐसे पहले पुरुष बन जाएंगे जिन्होंने चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीते हैं. अगर जोकोविच यह ख़िताब जीत जाते हैं तो वो रोजर फ़ेडरर के साथ 20 ग्रैंड स्लैम जीतने की बराबरी कर लेंगे. कैसा रहा मैच पेरिस के फ़िलिफ-शेटरिए कोर्ट पर खेला गया सेमीफ़ाइनल मुक़ाबला अब तक फ़्रेंच ओपन में खेले गए महानतम मैचों में से एक बताया जा रहा है.  चार सेट्स तक खिंचे मैच में जोकोविच ने नडाल को 3-6 6-3 7-

इसराइलः नेतन्याहू की विदाई तय, विपक्षी दलों में हुआ समझौता, नेफ़्टाली बेनेट बनेंगे पीएम

Image
  इसराइल में प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू के विरोधियों के बीच गठबंधन सरकार बनाने को लेकर सहमति हो गई है जिसके बाद उनकी विदाई का रास्ता साफ़ हो गया है. नेतन्याहू इसराइल में सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले नेता हैं और पिछले 12 साल से देश की राजनीति उनके ही इर्द-गिर्द घूमती रही है. मार्च में हुए चुनाव में नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को बहुमत नहीं मिलने के बाद दूसरे नंबर की पार्टी को अन्य सहयोगियों के साथ सरकार बनाने का निमंत्रण दिया गया था. उन्हें बुधवार 2 जून की मध्यरात्रि तक बहुमत साबित करना था और समयसीमा समाप्त होने के कुछ ही देर पहले विपक्षी नेता येर लेपिड ने घोषणा की कि आठ दलों के बीच गठबंधन हो गया है और अब वो सरकार बनाएँगे.  इसके साथ ही इसराइल में राजनीतिक अनिश्चितता के बीच जारी अटकलों पर विराम लग गया है क्योंकि गठबंधन पर सहमति होने को कई लोग असंभव बात मान रहे थे. ऐसा नहीं हो पाने की सूरत में इसराइल में दो साल के भीतर पाँचवीं बार चुनाव करवाने की नौबत आ जाती. गठबंधन के लिए हुए समझौते के तहत बारी-बारी से दो अलग दलों के नेता प्रधानमंत्री बनेंगे. सबसे पहले दक्षिणपंथी यामिना पा

सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की परीक्षा टाली गई

Image
  कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए शिक्षा मंत्रालय ने कक्षा सीबीएसई की 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का फ़ैसला किया है. शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी है कि 10वीं के नतीजे इंटरनल एसेसमेंट यानी बोर्ड के बनाए ऑबजेक्टिव क्राइटेरिया के आधार पर किए जाएंगे.  वहीं 12वीं की परीक्षा के लिए को फिलहाल टाल दिया गया है. 12वीं की परीक्षा कराने को लकर बाद में फ़ैसला किया जाएगा.  मंत्रालय का कहना है कि इसके लिए एक जून को एक बार फिर स्थिति की समीक्षा की जाएगी. सीबीएसई की परीक्षाएं 4 मई से 14 जून को होने वाली थीं. छोड़िए Twitter पोस्ट, 1 पोस्ट Twitter समाप्त, 1

गाजियाबाद हादसा:श्मशान में छत गिरने से 21 की मौत; जिसका अंतिम संस्कार था, उसके बेटे की भी मलबे में दबकर जान गई

Image
उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से कई लोग दब गए। इनमें 21 की मौत हो गई, 24 घायल हैं। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उनके एक बेटे की भी मौत हुई है। ढाई महीने पहले ही बनी थी गैलरी बताया जाता है कि श्मशान घाट पर मुरादनगर के फल कारोबारी जयराम का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। जयराम का 65 साल की उम्र में निधन हो गया था। अंतिम संस्कार के दौरान सभी लोग गेट से सटी गैलरी में खड़े थे। इसी दौरान यह हादसा हो गया। ढाई माह पहले ही यहां गैलरी बनाई गई थी। लोगों का आरोप है कि गैलरी बनाने में घटिया मटेरियल का इस्तेमाल हुआ था। मौके पर मौजूद जयराम के पोते देवेंद्र ने बताया कि उसके दादा का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। बाकी लोग दूर खड़े होकर देख रहे थे। इसी दौरान छत गिर गई। इससे वहां खड़े सभी लोग दब गए। देवेंद्र ने बताया कि हादसे में उनके चाचा की भी मौत हो गई है। एक चचेरा भाई मलबे के नीचे दबा हुआ है। हादसे में उनके पिता भी घायल हो गए। प्रधानमंत्री मोदी न

सूर्यास्त के बाद धरती से दिखेगा अंतरिक्ष का अद्भुत नजारा

Image
  बृहस्पति और शनि ग्रह आज सोमवार को इतने करीब होंगे कि दोनों के बीच दूरी महज 0.1 डिग्री रह जाएगी. वैज्ञानिकों के मुताबिक इन्हें नंगी आँखों से भी देखा जा सकता है और दूरबीन या टेलीस्कोप से भी. ये खगोलीय घटना 17 जुलाई 1623 के बाद हो रही है. इसके बाद ये नजारा 15 मार्च 2080 को दिखाई देगा. इसके अलावा आज साल का सबसे छोटा दिन है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का कहना है कि हमारे सौरमंडल में दो बड़े ग्रहों का नजदीक आना दुर्लभ नहीं है. यूँ तो बृहस्पति ग्रह अपने पड़ोसी शनि ग्रह के पास से हर 20 साल पर गुजरता है, लेकिन इसका इतने नजदीक आना ख़ास है. वैज्ञानिकों का कहना है कि दोनों ग्रहों के बीच उनके नज़रिए से सिर्फ 0.1 डिग्री की दूरी रह जाएगी, हालाँकि तब भी ये दूरी करोड़ों किलोमीटर की होगी.  यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैम्ब्रिज के इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोनॉमी में डॉक्टर क्रोफॉर्ड ने बीबीसी को बताया, “मौसम बहुत अच्छा नहीं लग रहा है इसलिए ये एक क़ीमती मौका है.” अगर मौसम की स्थिति अनुकूल रहती है तो ये आसानी से सूर्यास्त के बाद दुनिया भर में देखा जा सकता है. कहाँ और कब दिखेगा इस घटना का सबसे बेहतरीन नज़ारा सोमवार रात

किसान आंदोलन: MSP पर माँग मान क्यों नहीं लेती मोदी सरकार? जानिए क्या है वजहें

Image
  भारत की राजधानी दिल्ली के बॉर्डर पर किसानों के धरना प्रदर्शन का सोमवार को पाँचवा दिन है. पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश से दिल्ली की तरफ़ कूच कर रहे किसान हाल ही केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन कृषि क़ानूनों का विरोध कर रहे हैं. अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के मुताबिक़ उनकी अहम माँगों में से एक है, "सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम कीमत पर ख़रीद को अपराध घोषित करे और एमएसपी पर सरकारी ख़रीद लागू रहे." एमएसपी पर ख़ुद प्रधानमंत्री ट्वीट कर कह चुके हैं, "मैं पहले भी कहा चुका हूँ और एक बार फिर कहता हूँ, MSP की व्यवस्था जारी रहेगी, सरकारी ख़रीद जारी रहेगी. हम यहां अपने किसानों की सेवा के लिए हैं. हम अन्नदाताओं की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे और उनकी आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर जीवन सुनिश्चित करेंगे." उनका ये ट्वीट 20 सितंबर 2020 का है. छोड़िए Twitter पोस्ट, 1 पोस्ट Twitter समाप्त, 1 छोड़िए Twitter पोस्ट, 2 पोस्ट Twitter समाप्त, 2 लेकिन ये बात सरकार बिल में लिख कर देने को तैयार नहीं है. सरकार की दलील है कि इसके पहले के क़ानूनों में भी लिखित में ये