रामदेव लाए कोरोना की दवा CORONIL, पर ICMR और मोदी की Ayush Ministry ने झाड़ लिया पल्ला, कहा- जब तक ‘जांच’ न हो जाए, तब तक न करें प्रचार

विश्वभर में जहां कोरोना वायरस महामारी का इलाज तलाशा जा रहा है। वहीं, योग गुरु रामदेव की कंपनी पतंजलि ने कोरोना वायरस के इलाज की दवा बना लेने का दावा किया है। कंपनी की तरफ से जमकर इसका प्रचार भी किया जा रहा है लेकिन अब  ICMR और आयुष मंत्रालय ने इन दावों से पल्ला झाड़ लिया है और कंपनी को दवा की जांच होने तक इसका प्रचार ना करने की हिदायत दी गई है। आयुष मंत्रालय ने पतंजलि को आदेश दिए कि कोविड दवा का तब तक प्रचार नहीं करे जब तक कि ‘‘मुद्दे’’ की जांच नहीं हो जाती ।
पतंजलि की कोरोना का इलाज करने वाली दवा के दावे से आईसीएमआर (भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद) और आयुष मंत्रालय ने पल्ला झाड़ लिया है। (फाइल फोटो)
Tags: Baba Ramdev Coronavirus
COVID-19 Patanjali
मंत्रालय का कहना है कि पतंजलि की कथित दवा, औषधि एवं चमत्कारिक उपचार (आपत्तिजनक विज्ञापन) कानून, 1954 के तहत विनियमित है। पतंजलि से कहा गया है कि वह जल्द से जल्द उस दवा का नाम और उसके घटक बताए जिसका दावा कोविड-19 उपचार के लिए किया जा रहा है। इसके अलावा कंपनी से यह भी कहा गया है कि  वह नमूने का आकार, स्थान, अस्पताल जहां अध्ययन किया गया और आचार समिति की मंजूरी के बारे में विस्तृत जानकारी दे।

Popular posts from this blog

येदियुरप्पा ने मानी हार, विश्वास मत परीक्षण से पहले ही दिया इस्तीफा

सरकार में पैराशूट बाबू की एंट्री की शुरुआत, बिना #UPSC पास किए भी बन सकेंगे अफसर

काले हिरण के शिकार के मामले में सलमान ख़ान दोषी क़रार, मिली 5 साल की सज़ा