BJP ने उड़ाया मुस्लिम वोटर्स का मजाक- डॉक्यूमेंट्स संभाल कर रखना, NPR में फिर दिखाना

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार (8 फरवरी, 2020) को विधानसभा चुनाव में हिस्सा लेने के लिए लाखों लोग अपने घरों से निकले और वोट डाला। चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं ने भी बढ़कर हिस्सा लिया। इसी बीच भाजपा की कर्नाटक इकाई के ट्विटर हैंडल से मतदान के लिए लाइन में लगीं मुस्लिमों महिलाओं का वीडियो शेयर कर मजाक उड़ाया गया। रविवार दोपहर किए ट्वीट में लिखा गया, ‘कागज नहीं दिखाएंगे हम… कागज संभाल कर रखना, आपको एनपीआर में फिर दिखाने की जरुरत होगी।’ बता दें कि ट्वीट का हिंदी भाग नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में प्रमुखता से इस्तेमाल होने वाला नारा है।

आलोचकों का मानना है कि सीएए के बाद जब एनआरसी अमल में लाया जाएगा तो ये लाखों वास्तविक मुस्लिम निवासियों के उत्पीड़न का कारण बन सकता है। हालांकि केंद्र सरकार का कहना है कि देशभर में एनआरसी लागू करने का अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। 4 फरवरी, 2020 को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय नागरिकों के लिए एनआरसी तैयार करने के लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।’ नित्यानंद राय ने सदन में चंदन सिंह और नमा नागेश्वर राव के सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। सदस्यों ने सवाल किया था कि क्या सरकार की पूरे देश में एनआरसी लाने की कोई योजना है?

BJP Karnataka
@BJP4Karnataka
"Kaagaz Nahi Dikayenge Hum" ! ! !
Keep the documents safe, you will need to show them again during #NPR exercise. #DelhiPolls2020

इसी बीच मुस्लिम महिला मतदाताओं से जुड़े ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने भी प्रतिक्रिया दी है। जरफी @Tontangbi ट्वीट कर लिखती हैं, ‘यही वजह है जिसके चलते भाजपा पतन की तरफ जाएगी। यह एक धर्म के प्रति अनादर और घृणा का नायाब प्रदर्शन है।’ शिवम बहुगुणा @JanusBlinked लिखते हैं, ‘देश की सत्तारूढ़ पार्टी ने जनसंहार की धमकी दी। इसे जारी रखें… आपके ट्वीट्स भविष्य के युद्ध अपराध परीक्षण के लिए संग्रहित किए जाएंगे।’ इसी तरह एक अन्य यूजर शिवम @ShivamJ24 लिखते हैं, ‘मैं यूएनएचआर और यूएन से अपील करता हूं कि इसपर संज्ञान लें कि कैसे भारत की सत्तापक्ष पार्टी मुस्लिमों को धमकी दे रही है। ये ट्वीट भारत के सत्तापक्ष के इरादों के बारे में बताता है। ये खुले तौर पर धमकी भरे स्वर में भारत के मुसलमानों को अपनी नागरिकता और वफादारी साबित करने के कह रहे हैं।’
बता दें कि दिल्ली में मतदान के बाद आए अधिकतर एग्जिट पोल में एक बार फिर आप सरकार बनती हुई नजर आ रही है। इंडिया टुडे- एक्सिस ने अपने पोल में आप को 59-68 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया है वहीं भाजपा को 2-11 से सीटें मिलने की बात कही गई है। पोल में कांग्रेस जीरो और अन्य को 4-6 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। इसी तरह टाइम्स नाऊ-आईपीएसओएस (आप को, 44-50, भाजपा को 20-26), रिपब्लिक-जन की बात (आप को 48-61, भाजपा को 9-21 और कांग्रेस 0-1), एबीपी-सीटर (आप को 49-63, भाजपा को 5-19, कांग्रेस 0-4) टीवी9 भारतवर्ष (आप को 54, भाजपा को 15, कांग्रेस को 1) और न्यूज एक्स के सर्वे में (आप को 53-57, भाजपा को 11-17, कांग्रेस को 2) मिलने का अनुमान व्यक्त किया है।

Popular posts from this blog

येदियुरप्पा ने मानी हार, विश्वास मत परीक्षण से पहले ही दिया इस्तीफा

सरकार में पैराशूट बाबू की एंट्री की शुरुआत, बिना #UPSC पास किए भी बन सकेंगे अफसर

काले हिरण के शिकार के मामले में सलमान ख़ान दोषी क़रार, मिली 5 साल की सज़ा