अभी-अभी हैदराबाद डॉक्टर मर्डर केस- चारों अभियुक्तों की पुलिस मुठभेड़ में मौत

हैदराबाद के बहुचर्चित रेप कांड में पकड़े गए चारों अभियुक्त पुलिस एनकाउंटर में मारे गए है.
ये एनकाउंटर हैदराबाद से 50 किलोमीटर दूर महबूब नगर ज़िले के चटनपल्ली गाँव में हुआ.
तेलंगाना पुलिस के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) जितेंद्र ने ने बीबीसी को बताया कि शुक्रवार तड़के 3 बजे चारों संदिग्ध लोगों की एक मुठभेड़ में मौत हो गई.
इन चारों अभियुक्तों को बुधवार को पुलिस हिरासत में सौंपा गया था.
एक पुलिस अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बीबीसी को बताया कि गुरूवार रात को पुलिस चारों अभियुक्तों को उस जगह ले गई जहाँ महिला डॉक्टर का जला हुआ शव बरामद किया गया था.
वहाँ घटना का दृश्य रीक्रिएट करते वक़्त अभियुक्तों ने पुलिस पर हमला करने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस की कार्रवाई में वो मारे गए.
इस एनकाउंटर के बाद मृतक डॉक्टर के पिता ने कहा कि मेरी बेटी की आत्मा को अब शांति मिली होगी.
28 नवंबर को हैदराबाद में एक टोल प्लाज़ा के पास 26 साल की एक डॉक्टर का जला हुआ शव बरामद हुआ था. जांच में पता चला कि महिला के साथ रेप हुआ था और बाद में हत्या करने के बाद जला दिया था.
घटना के बाद संदिग्धों को गिरफ़्तार कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.
मेरे बेटे ने ऐसा किया तो उसे फांसी हो- हैदराबाद डॉक्टर मर्डर केस के एक अभियुक्त के पिता

डॉक्टर की दिल दहलाने वाली हत्या

हैदराबाद में 28 नवंबर को एक महिला पशु चिकित्सक के साथ यौन उत्पीड़न के बाद ज़िंदा जलाने की घटना सामने आई.
बताया गया कि 27 नवंबर को महिला डॉक्टर एक टोल प्लाज़ा पर अपनी स्कूटी पार्क कर आगे कैब से गईं. वापस लौटने पर उन्होंने अपनी स्कूटी को पंक्चर पाया जिसके बाद महिला ने स्कूटी को टोल प्लाज़ा पर ही छोड़ कैब से घर लौटने का फ़ैसला लिया.
महिला जब टोल प्लाज़ा पर अपनी स्कूटी लेने गई तब रात के 9 बज रहे थे. उस वक़्त वो अपनी बहन से बात भी कर रही थी.
उन्होंने फ़ोन पर अपनी बहन को बताया कि उन्हें अकेले सड़क पर खड़ा होने में डर लग रहा है, अचानक से कुछ लोग दिख रहे हैं, कुछ लोग उन्हें स्कूटी ठीक करने की बात भी बोल रहे हैं.
महिला ने फ़ोन पर ही अपनी बहन को बताया था कि एक ट्रक ड्राइवर उनके पास रुका और उसने स्कूटी ठीक करने की बात कही. जब उन्होंने ट्रक ड्राइवर से स्कूटी ठीक करवाने से इनकार कर दिया तो उसके बाद भी वह उनका पीछा करता रहा.
लड़की की बहन ने उन्हें सलाह दी कि वह टोल प्लाज़ा के पास ही खड़ी हो जाएं, इस पर लड़की राज़ी नहीं हुई और उन्होंने बताया कि सभी लोग उन्हें घूर रहे हैं जिससे उन्हें डर लग रहा है.
इसके बाद लड़की ने अपनी बहन को थोड़ी देर में फ़ोन करने की बात कही, लेकिन इसके बाद उनका फ़ोन स्विच ऑफ़ हो गया.
फिर उनके परिवार के लोगों ने टोल प्लाज़ा के पास आकर उनकी तलाश की और इसके बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन में मिसिंग रिपोर्ट दर्ज करवाई.
28 नवंबर की सुबह पुलिस स्टेशन से सटे एक इलाक़े में एक अंडर कंस्ट्रक्शन पुल के नीचे एक अधजली लाश मिलने की सूचना मिली. जिसके बाद महिला डॉक्टर के परिजनों ने आकर शिनाख़्त की.
इस घटना को लेकर देश भर में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हुए. घटना के बाद हैदराबाद पुलिस ने इस मामले में चार संदिग्ध लोगों को गिरफ़्तार किया.

Popular posts from this blog

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में धमाका, CRPF के 42 जवान मारे गए

CBI बनाम ममता बनर्जी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा राजीव कुमार को सीबीआई गिरफ्तार नहीं कर सकती!

हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद येदियुरप्पा बने 'कर्नाटक के किंग'