देश को मिल गया पहला राफेल विमान, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भरी 35 मिनट तक उड़ान, बोले- और मजबूत होगी IAF

राजनाथ बोले- भारत में आज दशहरा है, जहां पर बुराई पर अच्छाई की जीत मनाते हैं। साथ ही आज 87वां Air Force Day भी है, इसलिए भी कई मायनों में यह दिन अहम है। मुझे बताया गया कि Rafale फ्रांस का शब्द है, जिसका मतलब गवा का झोंका होता है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस से खरीदे गए 36 राफेल लड़ाकू विमानों की सीरीज में पहला विमान मंगलवार को औपचारिक तौर पर हासिल किया। फ्रांस के दक्षिण-पश्चिम स्थित मेरिनियाक में इस विमान सौंपे जाने के लिए आयोजित कार्यक्रम में सिंह फ्रांसीसी समकक्ष फ्लोरेंस पार्ले के साथ शामिल हुए।
राफेल का पहला जेट विमान RB 001 भारत को सौंपे जाने के बाद राजनाथ ने ऊं बनाकर इसकी शस्त्र पूजा की और कुछ देर बाद इसमें उड़ान भी भरी। वह करीब 35 मिनट तक राफेल की सवारी करते रहे। उड़ान पूरी कर लौटने पर उन्होंने मीडिया से कहा कि उड़ान बेहद आरामदायक थी और जीवन में उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि वह कभी इतनी रफ्तार से उड़ने वाले जेट में सफर करेंगे।
रक्षा मंत्री ने इससे पहले कार्यक्रम में कहा था, “भारतीय सुरक्षा बलों के लिए आज ऐतिहासिक दिन है। हमें तय समय पर यह फाइटर प्लेन मिल रहा है। भारत और फ्रांस के रिश्ते इससे और मजबूत होंगे। राफेल के देश आ जाने से भारतीय वायुसेना भी और ताकतवर बनेगी।”

राजनाथ बोले- भारत में आज दशहरा है, जहां पर बुराई पर अच्छाई की जीत मनाते हैं। साथ ही आज 87वां Air Force Day भी है, इसलिए भी कई मायनों में यह दिन अहम है। मुझे बताया गया कि Rafale फ्रांस का शब्द है, जिसका मतलब गवा का झोंका होता है।
बकौल राजनाथ, “मुझे पूरा यकीन है कि यह विमान अपने नाम की तरह ही कसौटियों पर खरा उतरेगा। मुझे विश्वास है कि राफेल से भारत की वायुसेना और मजबूत होगी, ताकि देश में शांति और सुरक्षा बरकरार रखी जा सके।”

भारत को 2022 तक मिल जाएंगे इस सीरीज के सभी राफेलः राजनाथ
बकौल राजनाथ, "फरवरी 2021 तक भारत को 18 राफेल मिल जाएंगे, जबकि अप्रैल-मई 2022 तक हमें इस सीरीज के पूरे 36 विमान हासिल हो जाएंगे। यह हमारी आत्म सुरक्षा के प्रतीक का हिस्सा है और इसे किसी के खिलाफ आक्रामकता न समझा जाए। यह एक निवारक है।"

उड़ान पूरी कर क्या बोले राजनाथ? जानें
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल विमान में उड़ान पूरी करने के बाद कहा- फ्लाइट बेहद आरामदायक थी। यह अभूतपूर्व पल था। मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं कभी जीवन में सुपर सॉनिक रफ्तार से उड़ान भरने वाले विमान में सवारी करूंगा।

राजनाथ ने मैक्रों से मुलाकात की, भारत-फ्रांस संबंधों पर हुई चर्चा
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों से मुलाकात की और दोनों देशों के रक्षा एवं रणनीतिक संबंधों को और मजबूत बनाने के बारे में चर्चा की। फ्रांसीसी राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास एलिसी पैलेस में उनसे मुलाकात के दौरान सिंह ने फ्रांस को भारत का ‘‘महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार’’ बताया। रक्षा मंत्रालय ने इस मुलाकात को ‘‘ बहुत गर्मजोशी से भरी और फलदायी’’ बताया।
बैठक करीब 35 मिनट चली। इसके बाद मंत्रालय की ओर से बयान जारी किया गया। इसमें कहा गया, ‘‘ यह बैठक दर्शाती है कि भारत और फ्रांस के बीच द्विपक्षीय साझेदारी कितनी गहरी है, खासकर रक्षा क्षेत्र में और हाल के वर्षों में यह उल्लेखनीय रूप से सुदृढ़ हुई है। दोनों नेताओं ने इन संबंधों को नयी ऊंचाइयों पर पहुंचाने का संकल्प लिया।’’

Popular posts from this blog

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में धमाका, CRPF के 42 जवान मारे गए

CBI बनाम ममता बनर्जी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा राजीव कुमार को सीबीआई गिरफ्तार नहीं कर सकती!

हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद येदियुरप्पा बने 'कर्नाटक के किंग'