लखनऊः कार न रोकने पर कॉन्स्टेबल ने ऐपल के मैनेजर को मारी गोली, मौत

लखनऊ के वीआईपी इलाके गोमती नगर में एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने कथित तौर पर गाड़ी न रोकने पर अमेरिकी मल्टीनैशनल कंपनी ऐपल के एरिया मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने गोली मारने की बात कबूल ली है। हालांकि कॉन्स्टेबल ने सफाई देते हुए कहा कि उसने बचाव में गोली चलाई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
जानकारी के मुताबिक ऐपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी शुक्रवार रात आईफोन की लॉन्चिंग से घर लौट रहे थे। इसी दौरान गोमतीनगर में यह घटना घटी। कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने उन पर गोली चला दी। गोली विवेक के गले में लगी। गंभीर रूप से घायल विवेक को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
मृतक की पत्नी ने पुलिस पर सवाल उठाते हुए इस मामले को मर्डर करार दिया है। विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा, 'पुलिस मेरे पति को गोली कैसे मार सकती है। मैं यूपी के सीएम से मांग करती हूं कि वह आकर मेरी बात सुनें।' उन्होंने बताया कि पति से रात में डेढ़ बजे उनकी बात हुई थी। उनकी जानकारी में था कि सना विवेक के साथ थीं। सीएम योगी आदित्यनाथ आएंगे तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा। सब इंस्पेक्टर पद से रिटायर विवेक के चाचा ने कहा है कि अगर गाड़ी से टक्कर हुई भी तो गाड़ी के टायर या शरीर के निचले हिस्से पर गली चलानी चाहिए थी। उन्होंने आरोप लगाया कि गले में गोली मारने का सीधा मतलब एनकाउंटर है।
एसएसपी लखनऊ ने इस बात की पुष्टि की है कि आरोपी कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है। कॉन्स्टेबल प्रशांतने पूछताछ में विवेक को गोली मारने की बात कबूल की है। उसने बताया कि विवेक ने उस पर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की, जिसके बाद सेल्फ डिफेंस में उसने गोली चलाई। पुलिस आरोपी कॉन्स्टेबल से पूछताछ कर रही है।
'कॉन्स्टेबल ने गले में मारी गोली'
लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि गोमतीनगर थाने में आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने कहा, 'शिकायतकर्ता सना खान ने बताया है कि शुक्रवार रात वह अपने कलीग विवेक तिवारी के साथ घर जा रही थीं। सीएमएस गोमतीनगर विस्तार के पास उनकी गाड़ी खड़ी थी, तभी सामने से दो पुलिसवाले आए और इन्होंने बचकर निकलने की कोशिश की।' वहीं, घटना के वक्त विवेक के साथ गाड़ी में मौजूद सहकर्मी सना का आरोप है कि कॉन्स्टेबल ने बाइक दौड़ाकर विवेक के गले में गोली मारी। सना की शिकायत पर ही हत्या का मामला दर्ज किया गया है।
विवेक का इरादा हमें मारने का था: आरोपी कॉन्स्टेबल
इस बीच चश्मदीद सना से पुलिस पूछताछ कर रही है। गोली चलाने वाले आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने अपने बचाव में कहा है, 'हम लोग गश्त पर थे। इसी दौरान विवेक ने हम पर गाड़ी चढ़ाई। विवेक का इरादा हमें जान से मारने का था। उसने तीन बार गाड़ी रिवर्स गियर में करके हमें कुचलने की कोशिश की। अंदर गाड़ी में कौन बैठा था यह नहीं दिखा'
एसएसपी की सफाई
एसएसपी ने आरोप पर सफाई देते हुए कहा, 'दो अन्य पुलिसवालों ने भी उन्हें रोकने की कोशिश की तो वह नहीं रुके और कॉन्स्टेबल ने गोली चला दी। इसके बाद घबराकर उनकी कार अंडरपास के पिलर से टकरा गई और विवेक को गहरी चोट आई। पुलिस उसे अस्पताल ले गई जहां देर रात उनकी मौत हो गई।' मौके पर आला-अधिकारी पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया। विवेक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है।
पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार
प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से एसएसपी ने बताया कि बच निकलने के चक्कर में विवेक की गाड़ी ने एक पुलिसवाले की मोटरसाइकल को भी टक्कर मारी। इसके बाद कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने एक फायर किया और बुलेट कार के विंड शील्ड को पार कर गया। उनका कहना है कि विवेक की मौत कार के टकराने से आई ऐक्सिडेंटल चोटों की वजह से हुई है या गोली लगने से यह पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो पाएगा।

Popular posts from this blog

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में धमाका, CRPF के 42 जवान मारे गए

CBI बनाम ममता बनर्जी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा राजीव कुमार को सीबीआई गिरफ्तार नहीं कर सकती!

हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद येदियुरप्पा बने 'कर्नाटक के किंग'