दोस्त आपका स्वागत है: नेतन्याहू

मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जो इजराइल यात्रा गए हैं


भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी तीन दिन के दौरे पर इजरायल पहुंच गए हैं। मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जो इजराइल यात्रा गए हैं। यहां उनका भव्य स्वागत किया गया है। नरेंद्र मोदी के स्वागत में खुद इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू बेन गुरियन एयरपोर्ट पहुंचे हैं। एयरपोर्ट पर इजरायल के 11 मंत्री भी मौजूद रहे। पीएम ने उनसे भी मुलाकात की। 10 मिनट के भीतर दोनों प्रधानमंत्री तीन बार गले लगे।
गले मिलने के बाद बेंजामिन नेतन्याहू ने पीएम मोदी हिन्दी में कहा- दोस्त आपका स्वागत है। उन्होंने कहा- 70 साल से इस पल का इंतजार था। भारत से रिश्ते आसमान से भी ऊंचे। यहां पीएम मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति और पोप जैसा सम्मान दिया गया। पीएम मोदी ने भी गर्मजोशी से स्वागत के लिए इजरायली पीएम का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इजरायल आना सम्मान की बात है।
नेतन्याहू ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा, ‘‘ मेरे मित्र, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इस्राइल में आपका स्वागत है।’’ मोदी के पहुंचने के बाद वहां सेना के बैंड ने दोनों देशों के राष्ट्रगान की धुन बजाई और इस दौरान दोनों नेता साथ साथ खड़े रहे। हवाई अड्डे पर इस्राइल के सभी वरिष्ठ मंत्री मौजूद थे। मोदी की तीन दिन की यात्रा के दौरान नेतन्याहू लगातार उनके साथ रहेंगे और आम तौर पर ऐसा अमेरिकी राष्ट्रपति के लिये ही होता है।
इसलिए अहम है इजरायल यात्रा:
इजराइल के आस्तित्व में आने के बाद पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री वहां का दौरा कर रहा है। पीएम मोदी की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच सैन्य, कृषि, जल और अंतरिक्ष तकनीक इत्यादि मसलों पर बातचीत और समझौते हो सकते हैं। रक्षा तकनीक में इजराइल दुनिया के सबसे अग्रणी देशों में एक है। अमेरिका और रूस के बाद इजराइल भारत का तीसरा सबसे बड़ा हथियार निर्यातक देश है। इजराइल कृषि तकनीक में काफी आगे है।

इसराइल में मोदी के भाषण की पांच प्रमुख बातें

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने तीन दिवसीय दौरे पर इसराइल पहुंच गए हैं.
इसराइल जाने वाले वो भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं और उनके इस दौरे को इसराइल के साथ भारत के संबंधों के एक नए अध्याय के रूप में देखा जा रहा है.
भारत का झुकाव हमेशा से फ़लस्तीन की ओर रहा है, लेकिन केंद्र में जबसे एनडीए सरकार आई है, भारत सरकार की नीति में एक गुणात्मक बदलाव देखा जा रहा है.
इसराइल पहुंचने के तुरंत बाद मोदी ने अपने स्वागत समारोह में अपनी इस यात्रा को 'पाथ ब्रेकिंग' कहा और इसराइल को भारत का महत्वपूर्ण साझीदार बताया.
आइए जानते हैं उनके भाषण की प्रमुख पांच बातें.
1-इसराइल ने तमाम बाधाओं की परवाह न करते हुए अपना रास्ता तय किया है और चुनौतियों को अवसरों में बदला है. भारत आपकी उपलब्धि पर आपको बधाई देता है.
2- आज चार जुलाई है और ठीक 41 साल पहले आज के ही दिन एन्तेबे की घटना घटी थी. विमान हाईजैक की घटना में इसराइली प्रधानमंत्री राबिन ने अपहृत इसराइलियों की जान बचाते हुए, अपने भाई को खो दिया था.
3- भारत इसराइल को अपने महत्वपूर्ण साझीदारों में से एक मानता है.
4-अपने समाज को सुरक्षित रखने के लिए हम एकदूसरे का सहयोग कर रहे हैं. दोनों देश 'टेररिज़्म' जैसी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं. इन सभी क्षेत्रों में एक प्रगतिशील साझेदारी मेरे और मेरे मित्र प्रधानमंत्री नेतन्याहू की बातचीत का मुद्दा रहेगा.
5- यह दौरा दोनों देशों के रिश्तों में एक 'पाथ ब्रेकिंग' यात्रा है. मैं इसराइल में रह रहे भारतीय प्रवासी लोगों से भी मिलना पसंद करूंगा, जिनमें एक बड़ी संख्या भारतीय यहूदी समुदाय के लोगों की है, जिन्होंने हमारे दोनों समाजों को काफ़ी कुछ दिया है.

Popular posts from this blog

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में धमाका, CRPF के 42 जवान मारे गए

CBI बनाम ममता बनर्जी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा राजीव कुमार को सीबीआई गिरफ्तार नहीं कर सकती!

हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद येदियुरप्पा बने 'कर्नाटक के किंग'