सहारनपुर में फिर भड़की हिंसा, हालात तनावपूर्ण

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जातीय हिंसा एक बार फिर भड़क गई है और दोनों पक्षों की ओर से हिंसा और आगज़नी करने की ख़बरें मिली हैं.
घटना के बाद हिंसा से सबसे ज़्यादा प्रभावित शब्बीरपुर गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए हैं और आला अधिकारी वहां पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं.
मेरठ परिक्षेत्र के अपर पुलिस महानिदेशक आनंद कुमार ने हिंसक घटनाओं की पुष्टि करते हुए कहा कि सहारनपुर के ज़िलाधिकारी और एसएसपी समेत तमाम आला अधिकारी घटनास्थल पर मौजूद हैं और वो ख़ुद भी कुछ ही देर में वहां पहुंचने वाले हैं.

मायावती का दौरा

एडीजी आनंद कुमार ने बताया, "इलाक़े में ताज़ा हिंसा की ख़बरें मिली हैं. दो पक्षों के लोगों की आपसी लड़ाई हिंसा में तब्दील हुई है. कुछ लोगों को चोटें भी आईं हैं और आगज़नी की घटनाएं भी हुई हैं, लेकिन किसी का घर नहीं जलाया गया है, आगज़नी सड़कों पर की गई है."
ताज़ा हिंसा भड़कने से इलाक़े में ज़बरदस्त तनाव की स्थिति है. मंगलवार की सुबह बीएसपी नेता मायावती ने शब्बीरपुर गांव का दौरा किया.
इस बीच उन्होंने रास्ते में कुछ जगहों पर लोगों को संबोधित भी किया.
स्थानीय लोगों के मुताबिक मायावती के शब्बीरपुर पहुंचने से पहले ही कुछ दलितों ने ठाकुरों के घर पर पथराव करने के बाद आगजनी की थी.

क्षेत्र में हाई अलर्ट

वहीं मायावती के जाते ही ठाकुरों ने दलितों के घरों पर कथित तौर पर हमला बोल दिया.
शब्बीरपुर के अलावा उससे सटे गांव चंद्रपुरा में भी दोनों समुदाय आमने-सामने आ गए और दोनों के बीच गोली-बारी भी हुई. हालांकि किसी अप्रिय घटना की ख़बर नहीं है.
घटना के बाद से ही दोनों गांवों में हालात तनावपूर्ण हो गए हैं और इलाक़े को एक बार फिर हाई अलर्ट कर दिया गया है.
इलाक़े में पीएसी के अलावा सहारनपुर के साथ ही आस-पास के ज़िलों से भी पुलिस बल को बुलाया गया है.

Popular posts from this blog

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में धमाका, CRPF के 42 जवान मारे गए

CBI बनाम ममता बनर्जी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा राजीव कुमार को सीबीआई गिरफ्तार नहीं कर सकती!

हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद येदियुरप्पा बने 'कर्नाटक के किंग'