प्रधानमंत्री मोदी की बीए डिग्री की जांच


केंद्रीय सूचना आयोग (सीआइसी) के एक फैसले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की डिग्री फिर निगरानी के दायरे में आ गई है। सीआइसी ने डीयू में वर्ष 1978 के कला संकाय के सभी स्नातकों (बीए) की सूची जारी करने को कहा है। डीयू के अनुसार इसी साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी स्नातक की परीक्षा पास की थी।
आयोग ने सभी छात्रों की अंकतालिका, पास या फेल से लेकर उनके पिता का नाम और रोल नंबर भी सार्वजनिक करने को कहा गया है। उसने विश्वविद्यालय को निर्देशित किया कि वह उस रजिस्टर की निगरानी और पूरी जानकारी दे जिसमें 1978 के कला प्रभाग के सभी छात्रों के रोल नंबर, नाम, पिता का नाम और अंक दर्ज किए गए हैं।

साथ ही रजिस्टर में दर्ज जरूरी पन्नों की सर्टीफाइड कॉपी भी निशुल्क देनी होगी। उल्लेखनीय है कि आरटीआइ आवेदनकर्ता नीरज ने विश्वविद्यालय से वर्ष 1978 में कला संकाय के सभी छात्रों का पूरा विवरण मांगा था।आयोग ने पहले विश्वविद्यालय के केंद्रीय जन सूचना अधिकारी की मांग को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि तीसरे पक्ष की निजी जानकारी है। ना ही मामले की कोई मेरिट है और नाही कोई कानूनी वैधता।

Popular posts from this blog

येदियुरप्पा ने मानी हार, विश्वास मत परीक्षण से पहले ही दिया इस्तीफा

सरकार में पैराशूट बाबू की एंट्री की शुरुआत, बिना #UPSC पास किए भी बन सकेंगे अफसर

काले हिरण के शिकार के मामले में सलमान ख़ान दोषी क़रार, मिली 5 साल की सज़ा